top of page

PM Vishwakarma Scheme में आर्थिक सहायता के साथ कौशल प्रशिक्षण भी


PM Vishwakarma Scheme के अंतर्गत सरकार 3 लाख रु. के लोन के साथ कौशल प्रशिक्षण की सुविधा भी उपलब्ध कराएगी । इसमें पहले से तय किए गए 18 ट्रेड्स से जुड़े कारीगरों को बिना गारंटी के यह लोन दिया जायेगा, साथ ही स्वयं का व्यवसाय शुरू करने के लिए कौशल विकास की ट्रेनिंग और स्टायफण्ड भी दिया जायेगा । प्रधानमंत्री द्वारा 17 सितम्बर को प्रारंभ की गई प्रधान मंत्री विश्वकर्मा योजना में आवेदन प्रारंभ हो गए है ।

दो किश्तों में मिलेगा लोन

योजना के अंतर्गत जो कारीगर खुद का रोजगार चालू करना चाहते हैं उन्हें कोलैटरल फ्री एंटरप्राइज डेवलपमेंट लोन 2 किस्तों में दिया जायेगा । पहली 1 लाख रूपये जोकि 18 महीने के पुनर्भुगतान पर दी जाएगी और दूसरी 2 लाख रूपये जोकि 30 महीने के पुनर्भुगतान पर दी जाएगी । इस योजना के तहत लाभार्थियों को 5% की ब्याज छूट दी जाएगी ।

योजना में शामिल 18 ट्रेड्स

बढ़ई (सुथार), नाव बनाने वाला, कवच बनाने वाला, लोहार (लोहार), हथौड़ा और टूल किट बनाने वाला, ताला बनाने वाला, सुनार (सुनार), कुम्हार (कुम्हार), मूर्तिकार (मूर्तिकार) / पत्थर तराशने वाला / पत्थर तोड़ने वाला, मोची (चर्मकार) / जूता बनाने वाला / फुटवियर कारीगर, मेसन (राजमिस्त्री), टोकरी बनाने वाला / टोकरी वेवर: चटाई बनाने वाला / कॉयर बुनकर / झाड़ू बनाने वाला, गुड़िया और खिलौना बनाने वाला (पारंपरिक), नाई (नाई), माला बनाने वाला (मालाकार), धोबी (धोबी), दर्जी ( दारज़ी) और मछली पकड़ने का जाल बनाने वाला ।

9 लाख आवेदन जमा

गत 17 सितंबर को शुरू हुई पीएम विश्वकर्मा योजना में 25 अक्टूबर तक सरकार के पास 9.09 लाख आवेदन आ गए हैं । योजना से जुड़े कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय के मुताबिक, 30 लाख परंपरागत शिल्पकारों को फायदा पहुंचाने वाली इस योजना के तहत मंत्रालय इस साल के बचे हुए कुछ महीनों में ही छह लाख लोगों को चुनकर योजना का लाभ उन्हें देना चाहता है। योजना में सबसे ज्यादा 3.18 लाख आवेदन पश्चिम बंगाल से है। कर्नाटक से 1.56 लाख आवेदन, असम से 82484, यूपी से 68786, ओडिशा से 59372, महाराष्ट्र से 39393, पंजाब से 38211 आवेदन आ चुके है। प्राथमिकता वाले 254 जिलों पर पारंपरिक कारीगरों के लिए सेंटर बनाकर उन्हें ट्रेनिंग दी जाएगी।

पोर्टल लिंक

इस योजना के लाभार्थियों को इसका लाभ लेने के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा जिसकी जानकारी के लिए आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट https://pmvishwakarma.gov.in/ पर जाना होगा ।

22 views0 comments

Yorumlar


bottom of page